UPTET
UPTET admit card Exam Date

UPTETAnswer Key 23 January 2024 – Paper 1 SANSKRIT

UPTET exam paper 23 January 2024 – Paper 1 SANSKRIT part 3 (Answer Key): UPTET exam paper 23 January 2024 – Paper 1 SANSKRIT language (Part 3) with Answer Key. UPTET exam paper 23/01/2024 – Paper 1 Morning shift Part 3 (SANSKRIT) with Answer Key available. Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test (UPTET) Primary Level Paper 1 available here.

UPTET exam paper 23 January 2024 – Paper 1 SANSKRIT (Answer Key)

भाग – III/PART – III
भाषा – II : संस्कृत / Language – II : SANSKRIT

61. ‘नदीः’ शब्दरूप में प्रयुक्त वचन है
(1) द्विवचन
(2) बहुवचन
(3) एकवचन
(4) एकवचन और बहुवचन दोनों

Answer – 2
Hide Answer

62. अकारान्त पुल्लिङ्ग शब्द का उदाहरण है
(1) रामः
(2) वाच्
(3) भानुः
(4) फलम्

Answer – 1
Hide Answer

63. ‘प्रेजते’ में सन्धि है
(1) पूर्वरूप
(2) वृद्धि
(3) गुण
(4) पररूप

Answer – 4
Hide Answer

64. ‘व’ वर्ण का उच्चारण स्थान है
(1) ओष्ठ
(2) दन्त
(3) दन्तोष्ठ
(4) तालु

Answer – 3
Hide Answer

65. घुटने के लिए उपयुक्त संस्कृत शब्द है।

(1) ऊरु
(2) जानु
(3) हनु
(4) जघन

Answer – 2
Hide Answer

66. संस्कृत के ‘एकोन चत्वारिंशत्’ को कहते हैं
(1) 29
(2) 39
(3) 49
(4) 59

Answer – 2
Hide Answer

67. द्वि शब्द, स्त्रीलिंग, प्रथमा विभक्ति का रूप है
(1) द्वयम्
(2) द्वौ
(3) द्वे
(4) द्वि

Answer – 3
Hide Answer

623. ‘ददति’ रूप है
(1) लोट् लकार, प्रथमपुरुष, एकवचन
(2) लट् लकार, प्रथमपुरुष, बहुवचन
(3) लट् लकार, प्रथमपुरुष, एकवचन
(4) लोट् लकार, प्रथमपुरुष, बहुवचन

Answer – 2
Hide Answer

69. ‘गुरूपदेशः’ शब्द में प्रयुक्त सन्धि है
(1) गुण सन्धि
(2) दीर्घ सन्धि
(3) यण् सन्धि
(4) अयादि सन्धि

Answer – 2
Hide Answer

70. उपसर्ग है
(1) कुत्र
(2) यदा
(3) परा
(4) यत्र

Answer – 3
Hide Answer

71. सर्वनाम शब्द है
(1) स्थूलः
(2) सर्वः
(3) पुत्रः
(4) प्रातः

Answer – 2
Hide Answer

72. ‘कुञ्जर’ शब्द का अर्थ है
(1) हिरण
(2) हाथी
(3) सर्प
(4) सुअर

Answer – 2
Hide Answer

73. ‘मातृ’ शब्द का तृतीया विभक्ति एकवचन में रूप होता है
(1) मात्रा
(2) मातया
(3) मात्रया
(4) माता

Answer – 1
Hide Answer

74. सुबन्धु की रचना है
(1) मेघदूतम्
(2) वासवदत्ता
(3) स्वप्नवासवदत्तम्
(4) अभिज्ञानशाकुन्तलम्

Answer – 2
Hide Answer

75. निम्नलिखित में से कौन-सा स्वर है ?
(1) लृ
(2) वृ
(3) ह्र
(4) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Answer – 2

76. ‘गोधूम’ शब्द का अर्थ है।
(1) गेहूँ
(2) चावल
(3) गाय का दूध
(4) गदहा

Answer – 1
Hide Answer

77. विसर्ग सन्धि का उदाहरण है
(1) महौषधिः
(2) सन्मित्रम्
(3) तल्लयः
(4) नमस्ते

Show Answer

723. स्पर्श संज्ञक वर्गों की संख्या है
(1) 023
(2) 25
(3) 5
(4) 30

Answer – 2
Hide Answer

79. ‘बालिका’ इस पद में प्रत्यय है
(1) याट्
(2) डाप
(3) चाप
(4) टाप

Answer – 4
Hide Answer

230. ‘पर्यन्त’ में उपसर्ग है
(1) परा
(2) परि
(3) प्र
(4) पर

Answer – 2
Hide Answer

231. ‘मनोरथः’ में सन्धि है

(1) परसवर्ण सन्धि
(2) अनुनासिक सन्धि
(3) विसर्ग सन्धि
(4) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Answer – 3
Hide Answer

232. “नेत्रीभ्याम् अश्रूणि पतन्ति’ में नेत्राभ्याम् पद में विभक्ति है
(1) पञ्चमी
(2) द्वितीया
(3) षष्ठी
(4) सप्तमी

Answer – 1
Hide Answer

233. ‘अशनि’ शब्द है
(1) नपुंसक लिङ्ग
(2) स्त्रीलिङ्ग
(3) पुल्लिङ्ग
(4) उपर्युक्त सभी

Answer – 3
Hide Answer

234. ‘तया नृपोऽनुगम्यते’ में वाच्य है
(1) भाववाच्य
(2) कर्मवाच्य
(3) कर्तृवाच्य
(4) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Answer – 2
Hide Answer

235. ‘यूपदारु’ पद में समास है
(1) द्वन्द्वः
(2) बहुव्रीहिः
(3) अव्ययीभावः
(4) तत्पुरुषः

Answer – 4
Hide Answer

निम्नलिखित गद्यांश पढ़कर प्र.सं. 236 एवं 237 के उत्तर दीजिए।
समाजे सर्वत्र दुर्जना: पीडयन्ति जनान् । यद्यपि सज्जनानां संख्या अधिका अस्ति तथापि दुर्जना एवं प्रबला: इति महदाश्चर्यम् । यतो हि सज्जना: प्राय: तटस्थाः भवन्ति । यदि दुर्जनानां प्रतिपदं विरोधं सज्जना: करिष्यन्ति तर्हि निश्चयेन समाज: निर्भयो भविष्यति ।

236. उपर्युक्त गद्य के अनुसार समाज में किसकी संख्या कम है ?
(1) ‘निर्भयों की
(2) शिक्षकों की
(3) सज्जनों की
(4) दुर्जनों की

Answer – 4
Hide Answer

237. उपर्युक्त गद्य के अनुसार दुष्ट लोग समाज में क्यों प्रबल दिखते
(1) क्योंकि उनकी पहुँच होती है।
(2) क्योंकि सज्जन तटस्थ रहते हैं।
(3) क्योंकि वे धनी होते हैं।
(4) क्योंकि उनकी संख्या अधिक होती है ।

Answer – 2
Hide Answer

निम्नलिखित श्लोक को पढ़िए तथा इससे सम्बद्ध प्रश्न सं. 2323 एवं 239 के उत्तर दीजिए। महान् वृक्षों जायते वर्धते च
तं चैव भूतानि समाश्रयन्ति । यदा वृक्षश्छिद्यते दह्यते च
तदाश्रया अनिकेता भवन्ति ।।

2323. इस श्लोक का भाव है
(1) वृक्ष को काटना या जलाना नहीं चाहिए ।
(2) वृक्ष पर सारे प्राणी आश्रित होते हैं ।
(3) वृक्ष महान् होता है।
(4) प्राणी जो वृक्ष पर आश्रित होते हैं, वृक्ष के नष्ट होने पर वे भी निराश्रित हो जाते हैं ।

Answer – 1
Hide Answer

239. उपर्युक्त श्लोक में भूतानि’ का तात्पर्य है
(1) आश्रय
(2) प्राणी
(3) वृक्ष
(4) नाश

Answer – 2
Hide Answer

90. ‘भू’ धातु का लोट् लकार, मध्यम पुरुष, एकवचन रूप है
(1) भवानि
(2) भवसि
(3) भव
(4) भवतु

Answer – 3

B.L Rakhla

we provides free educational & employment information to help job seekers.